जन भागीदारी से ही जल संरक्षण का अभियान संभव : बिरला

4
736
????????????????????????????????????

मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान का प्रशिक्षण कार्यक्रम

न्यूज चक्र @ कोटा

सांसद ओम बिरला ने आह्वान किया कि मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान को जन-जन का अभियान बनाया जाए। आमजन की भागीदारी से ही इसमें श्रेष्ठ परिणाम आएंगे। हमें हाड़ौती को जल स्वावलम्बन के क्ष्ोत्र में प्रदेश में अग्रणी बनाना है। बिरल सोमवार को जिला परिषद स्थित अटल सेवा केन्द्र में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम को अध्यक्ष के रूप में संबोधित कर रहे थ्ो।
इस अभियान के तहत आगामी 27 जनवरी से एक साथ कार्य प्रारम्भ किए जाएंगे । इन्हें 3 जून तक पूर्ण किया जाना है। इससे आने वाले मानसून में वर्षा जल का संरक्षण किया जा सके। इन कार्यों के परिणामों के आधार पर आगामी वर्ष के लिए अन्य गांवों का चयन कर कार्य योजना बनाई जाएगी। अभियान की कार्य अवधि 4 वर्ष रहेगी।

सभी एकजुट होकर जल संरक्षण का संकल्प लें

बिरला ने कहा कि पंच, सरपंच से लेकर विधायक तक सभी इस अभियान को अपना समझते हुए इस्ो इस तरह क्रियान्वित करें कि ठोस परिणाम मिलें। प्रशिक्षण कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए विधायक भवानीसिंह राजावत ने कहा कि हम नदियों की बहुलता वाले हाड़ौती अंचल में रहते हैं। यह हमारे लिए सौभाग्य की बात है। यदि जल संरक्षण के सुनियोजित प्रयास हों तो हाड़ौती पंजाब की तरह सरसब्ज बन सकता है। इसके लिए हमें नदियों में बेकार बह जाने वाले वर्षा जल को रोकने के लिए बड़े पैमाने पर योजनाएं बनानी होंगी। बड़े एनिकट बनाने होंगे। जिनमें अधिक जल संचय हो सके। साथ ही पुराने एनिकटों के रख-रखाव पर भी ध्यान देना होगा। विधायक हीरालाल नागर ने जल भराव वाले क्षेत्रों में इस तरह मेड़बंदी किए जाने की आवश्यकता बताई, जिससे किसी किसान की फसल बर्बाद न हो। खेतों व रास्तों पर पानी नहीं भरे।

जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों में समन्वय रहे

जिला कलक्टर डॉ. रविकुमार सुरपुर ने कहा कि इस अभियान को जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के समन्वय से ही प्रभावी बनाया जा सकता है। सभी जनप्रतिनिधि व अधिकारी इसका बारीकी से अध्ययन करें। साथ ही अपने अनुभव को भी शामिल इसकी क्रियान्विति करें। जिला परिषद के सीईओ जुगल किशोर मीणा ने अभियान की रूपरेखा पर प्रकाश डाला। एसई सीएम तेजावत ने अभियान के लिए चयनित गांवांे और इसमें करवाए जाने वाले कार्यों के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
इस अवसर पर जिला प्रमुख सुरेन्द्र गोचर, पंचायती राज के अन्य जनप्रतिनिधि व विभिन्न विभागों के अधिकारी भी मौजूद थ्ो। सभी जनप्रतिनिधियों ने जल स्वावलम्बन अभियान को आमजन से जोड़कर उनके हित में क्रियान्विति की आवश्यकता बताई।