छीपाबड़ौद में युवक से मारपीट के बाद बिगड़े हालात, भारी तनाव

3
898

3 4बंद समर्थक आंदोलनकारियों ने पुलिस पर किया पथराव तो हुआ लाठी चार्ज

दुकानों में तोड़फोड़ व आगजनी से अधिक बिगड़े हालात

सोशल मीडिया व बल्क मैसेजिंग पर जिलेभर में पाबंदी, कस्बे में धारा 144

कस्बा बना छावनी, आरएसी के जवानों ने किया फ्लैग मार्च

न्यूज चक्र बारां/ सेन्ट्रल डेस्क

बारां जिले के छीपाबड़ौद कस्बे में सोमवार देर रात हुई मारपीट की घटना के विरोध में सुबह कस्बे को बंद कराने में जुटे एक संगठन के कार्यकर्ताओं से दुकानदारों की तकरार हो गई। इसके बाद भारी तनाव फैल गया। हालात बेकाबू हो गए। आपस में पत्थरबाजी हुई। कई दुकानों में तोड़फोड़ कर दी गई। लहसुन मंडी में लहसुन को आग लगा देने से बात और ज्यादा बिगड़ गई। पुलिस ने स्थिति पर नियंत्रण करने की कोशिश की तो उस पर भी पत्थरबाजी की हुई। प्रशासन ने कस्बे में भारी पुलिस बल तैनात कर छावनी में तब्दील कर दिया। आरएसी के जवानों ने फ्लैग मार्च किया। सभी अधिकारी कस्बे में पहुंच गए। जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट ललित कुमार गुप्ता ने पूरे जिले में सोशल मीडिया व बल्क मैसेजिंग पर अगले 24 घंटों तक अर्थात बुधवार सुबह 11 बजे तक के लिए पाबंदी लगा दी। साथ ही छीपाबड़ौद कस्बे में आगामी आदेश तक धारा 144 लागू कर दी गई है। सोमवार रात की मारपीट के तीनों मुख्य आरोपी युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया था। जबकि आज उपद्रव फैलाने आदि मामले में भी करीब 25 आरोपी युवकों को हिरासत में लिया गया।
यह थी आक्रोश की वजह
छीपाबड़ौद कस्बे से सटे हुए हरनावदा जागीर के तीन युवक नरेन्द्र, सोनू व ललित गुर्जर सोमवार रात छीपाबड़ौद अस्पताल में दवाई लेने आए थ्ो। यहां किसी बात पर इन्हें कुछ युवकों ने घ्ोर कर मारपीट करने का प्रयास किया। इसमें सोनू व ललित तो बच कर निकल भागने में सफल हो गए। मगर नरेन्द्र से आरोपियों ने बुरी तरह मारपीट की। इससे वह बेहोश हो गया। आरोपी उसे मौके पर ही छोड़कर फरार हो गए। कुछ लोगों ने उसे अस्पताल पहुंचाया। वहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे बारां चिकित्सालय रेफर कर दिया गया। इस बात की जानकारी मिलते ही वीर गुर्जर विकास समिति व विहिप ने मंगलवार को कस्बे को बंद रखने की घोषणा कर दी थी। वहीं पुलिस ने नरेन्द्र की रिपोर्ट पर तीनों मुख्य आरोपी शानूà, शाकिर व शहजाद को रात को ही गिरफ्तार कर लिया था।

ऐसे चला घटनाक्रम
सुबह जब दुकानों को बंद करवाते हुए बंद समर्थक युवक अस्पताल के पास पहुंचे तो यहां के दुकानदारों से उनकी तकरार हो गई। पुलिस ने यहां से इन्हें खदेड़ दिया। मगर इन युवकों ने सब्जीमंडी सहित कुछ अन्य दुकानों के साथ हरनावदी जागीर स्थित लहसुन मंडी में भी तोड़फोड़ कर डाली।
एसपी सत्येन्द्र सिह ने जिला मजिस्ट्रेट गुप्ता को सोशल मीडिया पर अफवाह फैला कर साम्प्रदायिक तनाव फैलाए जाने की आशंका बताई थी। इस पर सोशल मीडिया पर पाबंदी लगा दी गई।
जिला कलक्टर गुप्ता व एसपी सिंह ने बताया कि सोमवार को हुई मारपीट के सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उपद्रव फैलाने वाले दर्जनों लोगों को भी आज गिरफ्तार कर लिया गया। मौके पर पुलिस व आरएसी के जवान तैनात हैं। एएसपी मनोज कुमार, डीएसपी महेन्द्र सिंह, थानाधिकारी रामकिशन यादव, उपजिलाधिकारी हीरालाल वर्मा सहित आसपास के सभी थाना अधिकारी हालात पर निगाह रख्ों हुए हैं। समीप के जिलों से भी पुलिस लवाजमा यहां पहुंच गया था। रात तक तनावपूर्ण शांति बनी हुई थी।

फोटो-

छीपाबड़ौद कस्बे में उपद्रव के बाद जमा भीड़। हालात पर निगाह रख्ो हुए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी। कस्बे में फ्लैग मार्च करते आरएसी के जवान।