जयपुर में पावर हाउस पर कब्जा कर बिजली कर्मचारियों ने दो जीएसएस को ठप किया

1
706

शहर के करीब 25 प्रतिशत हिस्सेे में बिजली बंद

राज्यभर में यह संकट गहराने की आशंका

अपना ग्रेड पे बढ़ाने की मांग को लेकर हुई हड़ताल

न्यूज चक्र @ जयपुर / सेन्ट्रल डेस्क

तकनीकि बिजली कर्मचारियों ने कुछ देर पहले हीरापुरा पावर हाउस पर कब्जा कर लिया है। इसी के साथ उन्होंने पहले 44० व फिर 22० केवी के जीएसएस को ठप कर दिया। इससे शहर के करीब एक चौथाई इलाके में बिजली सप्लाई बंद हो चुकी है। सरकार ने शीघ्र ही इस संकट का समाधान नहीं किया तो पूरे राजस्थान में यह संकट गहरा सकता है। धौलपुर सहित अन्य जिलों से भी तकनीकि बिजली कर्मचारियों हड़ताल पर जाने की जानकारी मिल रही है।
ये कर्मचारी करीब पांच साल से इनका ग्रेड पे बढ़ा कर कमसे कम 24०० रुपए करने की मांग कर रहे थ्ो। कल इसी मुद्दे को लेकर इनकी एक सभा थी। उसे पुलिस ने बल प्रयोग कर तितर-बितर कर दिया था। इससे ये कर्मचारी भारी आक्रोशित हैं। इनका कहना है कि सभा में विजली मंत्री को भी आना था। मगर मंत्री ही नहीं सरकार का कोई भी नुमाइंदा उनकी बात सुनने नहीं आया। उल्टे पुलिस ने उन पर लाठियां भांज कर भगाया। मौके पर विभिन्न टॉवरों पर कर्मचारी चढ़े हुए भी हैं। यहां एकत्र बिजली कर्मचारियों की संख्या तकरीबन दस हजार मानी जा रही है।

सरकार में खलबली, मंत्री ने वार्ता के लिए बुलाया

वहीं इस मामले की सूचना मिली तो सरकार में खलबली मच गई। कुछ घंटों बाद देर शाम ऊर्जा मंत्री पुष्पेन्द्र सिंह ने हड़ताली कर्मचारियों के प्रतिनिधि मंडल को बातचीत के लिए बुला लिया। उन्हें इस बात की जानकारी मौके पर तैनात एसपी ने दी। इसके बाद कर्मचारियों का प्रतिनिधिमंडल मंत्री से वार्ता के लिए रवाना हो गया था। वहीं इन कर्मचारियों का कहना है कि वे अपनी मांग नहीं मानी जाने पर हड़ताल जारी रख्ोंगे। साथ ही उनका यह भी कहना था कि सरकार उन्हेंं इस संबंध में सकारात्मक आश्वासन देती है तो वे उसे लिखित में लेंगे।