कोटा दशहरा एवं एडवेंचर फेस्टिवल का रंगारंग आगाज

3
1023

kota 2 kota 3 kota 4 kota 5 kota 6 kota 7
सांसद ओम बिड़ला ने गुब्बारे छोड़ कर किया शुभारम्भ

हाड़ौती को पर्यटन हब बनाने का किया वादा

न्यूज चक्र @ कोटा

तीन दिवसीय कोटा दशहरा एवं एडवेंचर फेस्टिवल का आज लोक कलाओं की रंगारंग, आकर्षक प्रस्तुतियों के साथ शानदार आगाज हो गया। लोक कलाकारों की मनभावन प्रस्तुतियों व नृत्यों ने दर्शकों को खूब मोहा। इस फेस्टिवल का शुभारम्भ कोटा-बूंदी सांसद ओम बिड़ला ने हवा में गुब्बारे छोड़कर किया। माहौल बहुत खुशनुमा था। इस मौके पर जिला कलक्टर डॉ. रवि कुमार सुरपुर, नगर निगम के आयुक्त शिवप्रसाद एम. नकाते तथा इजराइल से आए पर्यटकों के अलावा अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि व अधिकारी भी मौजूद थ्ो।
यहां प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों से आए लोक कलाकारों ने हमारी सतरंगी संस्कृति को साकार करते हुए रंगारंग लोकनृत्य प्रस्तुत किए। प्रारम्भ में अंता से आए धन्नालाल मेघवाल के दल ने अपने विश्ोष अंदाज में लोक देवता तेजाजी महाराज की आराधना की। बूंदी से आए बाबूलाल सोनी के दल ने कच्छी घोड़ी नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों की खूब तालियां बटोरी। निवाई के रामप्रसाद शर्मा के दल ने लोक वाद्य अलगोजा पर सामूहिक लोक नृत्य प्रस्तुत कर राजस्थानी संस्कृति का अलग ही रंग बिख्ोर दिया। कोटा के हरिहर बाबा (धन्नालाल) ने भी हाड़ौती के लोक नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी। बारां जिले के शाहबाद के हरिकेश सिह के दल ने सहरिया आदिवासियों की विशिष्ट पहचान सहरिया लोक नृत्य की अनूठी प्रस्तुति देकर दर्शकों को खूब लुभाया। रूपसिह कंजर के दल ने चकरी नृत्य प्रस्तुत किया तो ऐसा लगा जैसे राजस्थानी उल्लास अपनी अपनी भरपूर उमंग से बिखर रहा है।
इस अवसर पर युवाओं व बच्चों में लोकप्रिय जोरबिग बॉल व पेरासेलिग काइट फ्लाइंग व लक्की बुर्ज पर रेपलिग का भी आयोजन किया गया। इन सभी इवेंट में बच्चों ने बड़ी संख्या में उत्साह से भाग लिया।

हाड़ौती बनेगा पर्यटन हब
कोटा दशहरा एवं एडवेंचर फेस्टीवल के शुभांरभ के अवसर पर सांसद ओम बिड़ला ने कहा कि हाड़ौती क्षेत्र में पर्यटन विकास की प्रबल संभावनाएं हैं। इसे विकसित कर देश-विदेश में पर्यटन हब के रूप में प्रस्तुत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बूंदी जिले की ऐतिहासिक धरोहरें जैसे किले व महल, कोटा जिले में चम्बल व बांधों में कलरव करते हुए देशी-विदेशी पक्षी यहां ईको व एडवेंचर ट्यूरिजम के लिए पर्या’ हैं। इसी प्रकार बारां जिले के धार्मिक तथा आदिवासी अंचलों के मेले, प्राकृतिक वादियां पर्यटकों के लिए आकर्षक का केन्द्र हैं। बिड़ला ने कहा कि संभाग के सभी जिलों में पर्यटन स्थलों के विकास के लिए बजट की कमी नहीं आने दी जाएगी।
ये भी थ्ो समारोह में मौजूद
एडीएम (प्रशासन) कल्पना अग्रवाल, एडीएम (शहर) सुनीता डागा, एसडीएम राजेश जोशी, प्रशिक्षु आईएएस निलाभ सक्सेना, उपनिदेशक पर्यटक संजय जौहरी, सहायक पर्यटन अधिकारी संदीप श्रीवास्तव, एडीएम (प्रशासन) भरतपुर ओपी जैन, कोटा के आरएसी कमांडेंट हिम्मत अभिलाश टांक सहित बड़ी संख्या में शहरवासी भी इस अवसर पर मौजूद थ्ो।
फोटो कैप्शन-
कोटा. कोटा दशहरा एवं एडवेंचर फेस्टिवल का हवा में गुब्बारे छोड़कर शुभारम्भ करते सांसद ओम बिड़ला। साथ में जिला कलक्टर डॉ. रवि कुमार सुरपुर, आयुक्त नगर निगम शिवप्रसाद एम. नकाते तथा इजराइल के पर्यटक ।

कोटा . कोटा दशहरा एवं एडवेंचर फेस्टिवल के शुभारम्भ के अवसर पर प्रस्तुतियां देते लोक कलाकार तथा एडवेंचर गेम में हिस्सा लेते युवा।