kotputli: घटना की जानकारी देने वाला ही निकला ‘लूट’ के ‘खेल’ का गुनहगार

kotputli: घटना की जानकारी देने वाला ही निकला ‘लूट’ के ‘खेल’ का गुनहगार

मंगलवार को हुई थी कोटपूतली में पौने पांच लाख की लूट

कोटपूतली एएसपी व डीवाईएसपी के सुपरविजन में टीम ने महज 8 घण्टे में धर लिया आरोपियों को

न्यूज़ चक्र कोटपूतली। विकास वर्मा। कोटपूतली पुलिस ने मंगलवार को शहर के लक्ष्मी नगर मोड़ पर स्थित फ्लिपकार्ट ऑफिस पर पौने 5 लाख की लूट के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।  जिला पुलिस अधीक्षक, जयपुर ग्रामीण, शंकर दत्त शर्मा (आईपीएस) ने जानकारी देते हुये बताया कि फ्लिपकार्ट ऑफिस कोटपूतली से 4,72,342 रूपयों की सनसनीखेज लूट की घटना घटित हुई थी, जो काफी गंभीर प्रवृति की घटना थी एवं घटना को लेकर लोगों में काफी आकोश था। इस प्रकार की घटना पुलिस के लिये बड़ी चुनौती थी। जिस पर उच्चाधिकारियों के निर्देशन में टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा मौके की बारीकी से जांच की गई। घटनास्थल से साक्ष्य जुटायें गये एवं साईबर सैल की सहायता प्राप्त कर प्रकरण में गहनता पूर्वक अनुसंधान किया गया एवं अभियुक्तों की लोकेशन का पता लगाया गया।

अभियुक्तों की लोकेशन का पता चलते ही टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुये जयपुर से अभियुक्त गुलशन शर्मा पुत्र हजारी लाल शर्मा जाति ब्राहमण, उम्र 27 साल निवासी हरिपुरा ब्राहमणान, थाना मनोहरपुर जिला जयपुर, राजेश शेरावत पुत्र रामगोपाल शेरावत जाति बलाई, उम्र 23 साल निवासी दुल्हेपुरा थाना खण्डेला जिला सीकर एवं कोटपूतली से अभियुक्त संजीव शर्मा पुत्र  हजारी लाल शर्मा जाति ब्राहमण उम्र 27 साल निवासी हरिपुरा ब्राहमणान थाना मनोहरपुर जिला जयपुर को गिरफतार एवं लूट की राशि बरामद कर घटना का पर्दाफाश करने में अतिमहत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की है।

घटना का विवरण 

पुलिस थाना कोटपूतली को जरिये टेलीफोन सूचना मिली की फ्लिपकार्ट ऑफिस कोटपूतली में 2 व्यक्ति पिस्टल दिखाकर लाखों रूपये लूटकर ले गये है। लूट की घटना पर पुलिस अधिकारी तुरन्त मौके पर पहुंचे एवं घटनास्थल का जायजा लिया गया, तो मौके पर एक व्यक्ति संजीव शर्मा मिला। लॉकर पासवर्ड से खुला हुआ मिला।

kotputli: घटना की

तरीका ए वारदात 

आपको बता दें कि अभियुक्त संजीव शर्मा फ्लिपकार्ट ऑफिस में कार्य करता है। जिसने पैसों के लालच में अपने भाई गुलशन व दोस्त राजेश शेरावत को योजना में शामिल किया एवं इन्होनें योजना बनाई कि फ्लिपकार्ट ऑफिस में कार्य करने वाले कर्मचारी नरेन्द्र सिंह को छुट्टी पर जाने के बाद उसकी जगह मैं काम करूंगा, तब आप पिस्टल एवं नकाबपोश होकर ऑफिस आकर लूट करके ले जाना एवं लॉकर के पासवर्ड संजीव शर्मा द्वारा बताये जाने पर लॉकर खोलकर उक्त लूट की घटना कारित की गई एवं ऑफिस से मॉनिटर लेकर चले गये ताकि सीसीटीवी कैमरों में नहीं आ सकें।

पुलिस टीम ने कैसे पकड़ा आरोपियों को

जिला पुलिस पुलिस अधीक्षक, शंकर दत्त शर्मा (आईपीएस) के निर्देशन में रामकुंवार कस्वा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोटपूतली के निकटतम सुपरविजन व नेतृत्व में दिनेश कुमार आर.पी.एस. पुलिस उप अधीक्षक कोटपूतली, रतनाराम देवासी आर.पी.एस. (प्रो.) पुलिस उप अधीक्षक कोटपूतली, दिलीप सिंह पु.नि. थानाधिकारी थाना कोटपूतली जिला जयपुर ग्रामीण को घटना के खुलासे के लिए कमान सौंपी गई। इनके द्वारा अपने नेतृत्व में अलग-अलग टीमों का गठन कर अलग-अलग जिम्मेदारियां दी गई। दिनेश कुमार आर.पी.एस. पुलिस उप अधीक्षक कोटपूतली व रतनाराम देवासी आर.पी.एस. (प्रो.)  पुलिस उप अधीक्षक कोटपूतली जिला जयपुर ग्रामीण व दिलीप सिंह पु.नि. थानाधिकारी पुलिस थाना कोटपूतली ने घटना स्थल के आस-पास के फुटेज चैक किये गये एवं संजीव शर्मा से घटना के संबंध में गहनता से पूछताछ की गई। सूचना के आधार पर नीमकाथाना सीकर में दबिश दी गई। मुख्य साजिशकर्ता संजीव शर्मा बहुत शातिराना अंदाज में पुलिस टीम को बार-बार गुमराह करता रहा, पर पुलिस टीम ने सी.डी.आर. का गहनता से विश्लेषण कर पुलिस अधीक्षक जिला जयपुर ग्रामीण, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोटपूतली जिला जयपुर ग्रामीण व पुलिस उप अधीक्षक कोटपूतली जिला जयपुर ग्रामीण द्वारा पूरी रात जगकर मॉनिटिरिंग की जाती रही एवं आर.पी.एस. प्रोबेशन रतनाराम देवासी व दिलीप सिंह पु.नि. थानाधिकारी थाना कोटपूतली जिला जयपुर ग्रामीण की टीम लगातार जयपुर में जगह-जगह दबिश देती रही व अभियुक्त संजीव शर्मा से मनौवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ जारी रखी। इस प्रकार जयपुर से तीनों आरोपियों को लूट की राशि के साथ गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस की गाड़ी को पुलिया से नीचे गिराने का प्रयास

जयपुर ग्रामीण एसपी शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि अभियुक्त संजीव शर्मा ने पुलिस गिरफ्त से छूटने के लिए शाहपुरा पुलिया पर पुलिस टीम की गाड़ी को स्टेरिंग को पकड़कर पुलिया से नीचे गिराने का प्रयास भी किया लेकिन पुलिस की सजगता से अपने प्रयास में सफल नहीं हो सका। आरोपियों कोको गिरफ्तार करने के बाद अन्य मामलों के लिए पूछताछ जारी है। रिर्पोट सहयोग- सीताराम गुप्ता

 624 total views,  1 views today

कोटपूतली जयपुर समाचार राजस्थान समाचार