किसान हमारी कौम है, ये कौम को बचाने की लड़ाई है : मनोज चौधरी

किसान हमारी कौम है, ये कौम को बचाने की लड़ाई है : मनोज चौधरी

26 जनवरी को दिल्ली पहुंचने का आह्वान

News Chakra. किसान बचाओ आंदोलन के संयोजक मनोज चौधरी ने तीन कृषि बिलों के खिलाफ 2 महीने से चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में संयुक्त किसान मोर्चा के निर्देशन में 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर आयोजित किसान गणतंत्र परेड में शामिल होने के लिए दिल्ली चलो का आह्वान किया है.

चौधरी ने कहा कि हमारी यह जिंदगी कौम की है और किसान ही हमारी कौम है और यह लड़ाई इसी किसान कोम को बचाने की लड़ाई है. उन्होंने कहा कि यह सरकार किसानों की सरकार नहीं बल्कि लालाओ कि सरकार है और किसान सिर्फ अपनी ही नहीं बल्कि हमारे हिस्से की लड़ाई भी लड़ रहा है इसलिए हमें मिलकर इस लड़ाई को लड़ना होगा किसान के कंधे मजबूत करने होंगे.

सरकार इस आंदोलन को कुचलना चाहती है इसलिए हम सब को शांति एवं धैर्य के साथ आंदोलन को सफलता की मंजिल तक पहुंचाना है. चौधरी ने कहा कि शांतिपूर्वक चल रहे किसान आंदोलन को बिगाड़ने की गहरी साजिश रची जा रही है लेकिन सरकार के यह नाकाम मंशुबे रहेंगे कभी पूरे नहीं होंगे.

चौधरी ने पेट्रोल पंपों पर ट्रैक्टरों को डीजल ना देने व कई जगह ट्रैक्टरों को रोड पर चलने में पाबंदी लगाने व ट्रैक्टर मालिक व ड्राइवर को नोटिस भेजने पर भी सरकार कड़ी निंदा की. चौधरी ने कहा कि सरकार किसान आंदोलन से डर गई है और इसे कुचलने की पुरजोर कोशिश कर रही है. चौधरी ने कोटपूतली, बहरोड, पावटा, शाहपुरा, बानसूर आदि के किसानों को गणतंत्र दिवस पर दिल्ली पहुंचकर किसान गणतंत्र दिवस परेड में ज्यादा संख्या में शामिल होने का आह्वान किया है.

 51 total views,  1 views today

National राजस्थान समाचार