कृषि अध्यादेश के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन

कृषि अध्यादेश के खिलाफ विरोध प्रदर्शन, राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन

कृषि अध्यादेश के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर जलाई प्रतियां और सौंपा ज्ञापन

पूनियां ने दी महाआंदोलन की चेतावनी और सौंपा राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन

न्यूज चक्र। भारतीय किसान श्रमिक जनशक्ति यूनियन के जिला सचिव सोहन पूनिया के नेतृत्व में ओसिया (Jodhpur) में केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन कृषि अध्यादेश के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर अध्यादेशों प्रतीयां जलाई और राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन ओसिया उपखंड अधिकारी को सौंपा गया।


पूनियां बताया कि तीनों कृषि अध्यादेश किसानों के बिल्कुल खिलाफ है और हम इसकी घोर निंदा करते हैं और ऐसे अध्यादेश का बहिष्कार करते हैं। सरकार से यह मांग करते हैं कि इन कृषि अध्यादेश को वापस लिया जाए या इसमें संसोधन कर पुनर: पारित किया जाए, क्योंकि इसमें फसल को MSP खरीद से बाहर कर दिया गया है तथा MSP की कोई गारंटी नहीं दी गई है। साथ ही किसानों के विवादित मामले प्रशासनिक अधिकारी सुलझाएगे, जो कि बिल्कुल गलत है।

ज्ञापन में मांग की गई हैं कि अधिकार फिर से कोर्ट-कचहरी को दिया जाए और इस अध्यादेश में स्वामीनाथ आयोग को भी कोई स्थान नहीं दिया गया है, आदी बातों का जिक्र करते हुए महामहिम राष्ट्रपति के नाम का ज्ञापन सौंपा गया।


साथ ही बताया गया कि देश के किसान बहुत पीड़ित है और एक के बाद आत्महत्याऐं कर रहे हैं, आखिर देश की आजादी के 70 साल बाद भी इस देश के अन्नदाता की ऐसी दयनीय स्थिति होना बड़ी विडंबना की बात है।

Read …फेमस किरदार ‘Bhabiji Ghar Par Hain ‘ के लिए कई एक्‍ट्रेसेस के नाम सामने आ रहे हैं.

ज्ञापन में कहा कि अगर सरकार ने इन कृषि अध्यादेशों को वापस नहीं लिया और इनमें संशोधन भी नही किया तो हम उग्र आंदोलन करेंगे और देश के संपूर्ण किसान सड़कों पर उतरेंगे यह तो बस एक शांतिपूर्ण और अहिंसात्मक तरीके से भारत बंद था, और आगे का किसान महाआंदोलन कुछ अलग तरीके से होगा। इस दौरान नाथाराम, मोतीराम, मंगनाराम, भीखाराम पूनियां, पुखराज, जालाराम, पप्पू राम आदि सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

 178 total views,  4 views today

राजस्थान समाचार